दर्द भरी हिंदी शायरी , टुटा दिल | Best Dard Bhari Shayari Hindi

दर्द भरी हिंदी शायरी टुटा दिल शायरी जो आपके दिल को छू जायेगी | Sad Hindi shayari 
दर्द भरी दो लाइन शायरी |  अगर आपको शायरी  पसंद आये तो अपने दोस्तों और फैली मेंबर के जरूर शेयर करे। 
दर्द भरी हिंदी शायरी ↓
दिलजलों से दिल्लगी अच्छी नहीं,रोने वालों से हँसी अच्छी नहीं।
Dard Bhari Hindi Shayari Images

तेरी आरज़ू मेरा ख्वाब है;जिसका रास्ता बहुत खराब है;मेरे ज़ख्म का अंदाज़ा न लगा;दिल का हर पन्ना दर्द की किताब है।
Dard Bhari Hindi Shayariदर्द भरी हिंदी शायरी ↓
 गुलशन की बहारों पे सर-ए-शाम लिखा है,
फिर उस ने किताबों पे मेरा नाम लिखा है,
ये दर्द इसी तरह मेरी दुनिया में रहेगा,
कुछ सोच के उस ने मेरा अंजाम लिखा है।

Dard Bhari Hindi Shayari
हम उम्मीदों की दुनियां बसाते रहे;वो भी पल पल हमें आजमाते रहे;जब मोहब्बत में मरने का वक्त आया;हम मर गए और वो मुस्कुराते रहे। 
Dard Bhari Hindi Shayariदर्द भरी हिंदी शायरी ↓
कोई ज़िन्दगी की आज़माइशों से गुजराकोई इश्क़ का रोग लगा बैठाकोई कलम से दर्द लिखने लगाकोई शायर खुद को बना बैठा
Dard Bhari Hindi Shayari

कभी दर्द है तो दवा नहींजो दवा मिली तो शिफा नहींवो जुल्म करते हैं इस तरहजैसे मेरा कोई खुदा नहीं

Dard Bhari Hindi Shayari

रोने की सज़ा न रुलाने की सज़ा है;ये दर्द मोहब्बत को निभाने की सज़ा है;हँसते हैं तो आँखों से निकल आते हैं आँसू;ये उस शख्स से दिल लगाने की सज़ा है।
Dard Bhari Hindi Shayari
हादसे इंसान के संग मसखरी करने लगे;लफ्ज कागज पर उतर जादूगरी करने लगे;कामयाबी जिसने पाई उनके घर बस गए;जिनके दिल टूटे वो आशिक शायरी करने लगे।
Dard Bhari Hindi Shayari

दिल मेरा जो अगर रोया न होता;हमने भी आँखों को भिगोया न होता;दो पल की हँसी में छुपा लेता ग़मों को;ख़्वाब की हक़ीक़त को जो संजोया नहीं होता।
Dard Bhari Hindi Shayari
लिखूं कुछ आज यह वक़्त का तकाजा है;मेरे दिल का दर्द अभी ताजा-ताजा है;गिर पड़ते हैं मेरे आंसू मेरे ही कागज पर;लगता है कि कलम में स्याही का दर्द ज्यादा है!
Dard Bhari Hindi Shayari

वो नाराज़ हैं हमसे कि हम कुछ लिखते नहीं;कहाँ से लाएं लफ्ज़ जब हमको मिलते नहीं;दर्द की ज़ुबान होती तो बता देते शायद;वो ज़ख्म कैसे दिखाए जो दिखते नहीं।
Dard Bhari Hindi Shayari

खून बन कर मुनासिब नहीं दिल बहे;दिल नहीं मानता कौन दिल से कहे;तेरी दुनिया में आये बहुत दिन रहे;सुख ये पाया कि हमने बहुत दुःख सहे।
Dard Bhari Hindi Shayari

हँसते हुए ज़ख्मों को भुलाने लगे हैं हम;हर दर्द के निशान मिटाने लगे हैं हम;अब और कोई ज़ुल्म सताएगा क्या भला;ज़ुल्मों सितम को अब तो सताने लगे हैं हम।
Dard Bhari Hindi Shayari


read more Hindi dard bhari Shayari And Search your shayari in search box
And Do not forgot To Share This Post To your friends And Family

Post a Comment

1 Comments

  1. Read All New Songs Lyrics Only On Lyricsdost.com
    Read All Old Songs Lyrics Only On Lyricsdost.com
    Read All Hindi Songs Lyrics Only On Lyricsdost.com
    Read All Punjabi Songs Lyrics Only On Lyricsdost.com
    Read All Bhojpuri Songs Lyrics Only On Lyricsdost.com
    Read All English Songs Lyrics Only On Lyricsdost.com

    ReplyDelete